इंडरी खंड के गांव खेड़ा खलीलपुर में । पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर 14 नामजद सहित करीब 15-20 अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है।

पीड़ित जाकिर ने रोजका मेव पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका बेटा आसिफ, भतीजा राशिद सहित तीन लोग सेंट्रो कार से रविवार देर शाम को सोहना से दवाई लेकर गांव आ रहे थे। तभी जखोपुर के निकट गांव के रणबीर ने अपने अन्य साथियों के साथ उसकी गाड़ी में टक्कर मार दी। इसके बाद गाड़ी को जबरन रुकवाकर आसिफ सहित राशिद के साथ मारपीट शुरू कर दी। आरोपी आसिफ का अपहरण कर कहीं दूर चले गए। राशिद की सूचना पर परिजन भी वहां पहुंच गए और आसिफ की तलाश करने लगे, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। इसके बाद परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने देर रात को नंगली गांव के पास से आसिफ के शव को बरामद कर लिया। पीड़ित जाकिर ने गांव के ही पटवारी, अडवानी, भीम, सोनू, कोटा, अनूप, बल्ला, नत्थू, महेंद्र, कुलदीप, राजू खेड़ली दोसा, काला और संदीप आदि आरोपियों पर अपहरण कर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए शव को नल्हड़ मेडिकल कॉलेज भिजवा दिया है। पुलिस ने 14 नामजद सहित करीब 15-20 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, इस घटना के बाद सोमवार को गांव के अलावा नूंह शहर में तनाव का माहौल बना रहा। पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारनियां ने सीएचसी में पहुंचकर परिजनों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में जो भी दोषी होगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा।

आरोपी पक्ष के जिम में तोड़फोड़ कर लूटपाट की
मृतक पक्ष के परिजनों ने आरोपी पक्ष के जिम में तोड़फोड़ कर लाखों रुपये का सामान लूट लिया।
पुलिस टीम पर किया पथराव
नूंह सीएचसी में सोमवार को काफी संख्या में युवा एकत्र हो गए। शव दफनाने के बाद अडबर चौक पर युवाओं ने पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। पुलिस ने अन्य साथियों की मदद से युवाओं को खदेड़ा। जानकारी के अनुसार, पुलिस ने इस दौरान फायरिंग भी की।
आरोपी पक्ष बोला, पहले से चल रहा था विवाद
आरोपी पक्ष के अनुसार, आसिफ ने कई साल पहले स्कूल के एक कार्यक्रम में कपड़े बदल रही लड़कियों के फोटो खींच लिए थे। तभी से दोनों पक्षों के बीच किसी न किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था। एक माह पहले ही गांव में पटवारी पर जानलेवा हमला भी किया गया, लेकिन उन्होंने किसी और के घर जाकर अपनी जान बचाई। इसके अलावा आसिफ ने पटवारी के भाई अडवानी और चचेरे भाई के साथ मारपीट भी की थी।
आरोपियों पर होगी कड़ी कार्रवाई :
नूंह जिला हेड क्वार्टर के डीएसपी सुधीर तनेजा ने बताया कि इस मामले में किसी आरोपी को नहीं बख्शा जाएगा। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर 24 घंटे के अंदर 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पीड़ितों को न्याय दिलाया जाएगा।

Share it
Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •