सम्राट मिहिर भोज के गुर्जर होने पर बवाल

योगीजी के द्वारा सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण करने के फैसले से पहले ही, सम्राट मिहिर भोज की जाती को लेकर घमासान मच गया ।
सम्राट मिहिर भोज के गुर्जर होने को लेकर कुछ लोगो ने सवाल खड़ा किया है, जिसे लेकर गुर्जर सम्राट मिहिर भोज के पोस्टर भी दादरी में फाड़े गए।
इसी सिलसिले में अखिल भारतीय गुर्जर संघ ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा है की, सम्राट मिहिर भोज गुर्जर थे, इसे उनके पास साक्ष्य है।
जिसे इसके सबूत चाहिए वो हमसे आकर मिले।
प्रेस कांफ्रेंस में संगठन के राष्ट्र अध्यक्ष अनुराग गुर्जर और वीरेंदर विक्रम का कहना है की पहले भी कई नेता गुर्जर सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा लगा चुके है , उनके गुर्जर होने पर कभी कोई विवाद खड़ा नहीं हुआ, इतिहास में भी कई जगह सम्राट मिहिर भोज के नाम से आगे गुर्जर लगा हुआ है।
परन्तु अभी राजनीती करने के लिए कुछ दल इस विवाद को बढ़ावा दे रहे है, जिसमे गुर्जर सम्राट मिहिर भोज के छत्रिय होने की बात को बढ़ावा दिया जा रहा है।
सत्य ये है की छत्रिया एक वर्ण है, जिसमे जाट गुर्जर यादव मराठा आदि जाती आती है।
इस बात को लेकर बेकार ही विवाद खड़ा किया जा रहा है।
अतः अगर किसी को सम्राट मिहिर भोज के गुर्जर होने को लेकर कोई शंका है , तो वो हमसे मिले, हम उनके गुर्जर होने के साक्ष्य दिखा देंगे

Share It
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *